Popular post

Wednesday, 20 May 2020

Headache in morning,morning headache
Morning Headache

Headache in morning क्या आपकी हर सुबह सिर दर्द के कारण खराब हो रही है ? क्या आपको सुबह सुबह सिर दर्द को सहना पड़ता है ? अगर ये सब सवाल आपके दिमाग में भी है तो घबराये नहीं इस लेख को पढ़ने के बाद 90 % लोग इस दर्द को सही तरीके अपना कर ठीक कर सकते है और उठकर मन लगाकर अपने काम कर सकते हैं।

सुबह उठने पर सिर भारी रहने के कारण व उपाए,Headache in morning -

हर सुबह इंसान नये लक्ष्यों और नये उत्साह के साथ शुरुआत करना चाहता है। परन्तु बहुत से ऐसे लोग है जो ऐसा नहीं कर पाते बल्कि सुबह उठने पर उन्हें सिर दर्द या सिर भारी सा लगता है और थकान महसूस होती है। इसके पीछे कई कारण हो सकते है। कारण पता होने पर हम उसमें सुधार करके अपने दिन की शुरुआत भरपूर उत्साह के साथ कर पाएंगे। 

गलत खानपान 

इंसान को अगर अपना शरीर स्वस्थ रखना है तो सबसे जरूरी है की अपने खानपान को साधा और स्वस्थ रखें। जितना गलत खानपान होगा उतना ही शरीर दुख पायेगा। प्रकृति के साथ चलेंगे तो एक स्वस्थ जीवन जी पाएंगे।
खाना सही होने के साथ साथ हमें खाने का समय भी सही करना पड़ेगा। दिनभर तो काम में लगे होने के कारण खाना पच जाता है लेकिन जब हम रात को खाना खाकर सो जाते है तब खाना ठीक से नहीं पच पाता जिस कारण से गैस ,एसिडिटी बनना शुरू हो जाती है और वही गैस शरीर के अलग अलग हिस्सों में दर्द का रूप ले लेती है।जैसे सुबह उठने पर थकान लगना ,किसी काम में मन ना लगना ,सिर दर्द ,कमर दर्द ,हाथों और पैरों में दर्द और कब्जी होना इत्यादि प्रकार की समस्याएं इससे हो सकती है। इसलिए हमें रात के भोजन का खास ख्याल रखना चाहिए।

रात को खाना कब ,कैसा और कितनी मात्रा में खाना चाहिए ?

  • सबसे पहले तो रात का खाना सोने से चार घंटे पहले खा लेना चाहिए। 
  • खाने के बाद टहलने की आदत बनाये। 
  • रात को खाने के बाद कभी भी बैठे या लेटें नहीं। 
  • रात का खाना हमेशा साधा होना चाहिए। फ़ास्ट फ़ूड या नॉन वेज या फिर ज्यादा मसाले वाला खाना रात को नहीं खाना चाहिए। 
  • रात को भरपेट खाना नहीं खाना चाहिए। जितनी भूख हो उससे कम ही भोजन करना चाहिए। 
  • खाने के कम से कम एक घंटे बाद ही पानी पीना चाहिए। 
  • कैफीन युक्त चीजें जैसे चाय ,कॉफ़ी का सेवन कम मात्रा में करना चाहिए। 

गलत समय पर सोना उठना 

प्रकृति ने दिन काम करने के लिए और रात आराम करने के लिए बनाई है इसलिए दिन में रोशनी और रात में अँधेरा प्रकृति की देन है। हमें इन नियमों का पालन करना चाहिए। अगर हम दिन में आराम करेंगे तो आम सी बात है की रात को सोने में परेशानी होगी और देर से नींद आएगी। देर से नींद आएगी तो सुबह भी हम जल्दी नहीं उठ पाएंगे जबकि हमें सूर्य उगने से पहले उठ जाना चाहिए। सूर्य उदय होने के बाद उठने से हमारे शरीर में बहुत से विकार जन्म ले लेते है। 
रात को मोबाइल और टीवी जैसे संसाधनों का प्रयोग बहुत जरूरी हो तभी करना चाहिए इनसे नींद आने में परेशानी आती है।नींद की कमी या सही से नींद ना आने पर भी सुबह उठने पर सिर भारी रहता है जो की थोड़ी देर बाद अपने आप ठीक हो जाता है।
सोने की सही पोजीशन क्या क्या होती है ?

सोने और उठने का सही समय 

  • रात को सोने का सही समय 9 बजे से 10 बजे होता है। 
  • सुबह 4 बजे से 5 बजे तक उठ जाईये। 
  • सूर्य उदय होने से पहले उठना अनिवार्य है अगर तो आप इस सिर दर्द से छुटकारा पाना चाहते हैं। 

दिनभर आराम करना 

अगर आप दिनभर शरीर से कोई काम नहीं लेंगे और पूरा करेंगे तो शरीर दिन भर दिन आलसी होता जायेगा। दिन में अगर शारीरिक काम नहीं होंगे तो शरीर में थकान नहीं होगी जिसकी वजह से नींद बेहतर नहीं आ पायेगी। और नींद बेहतर नहीं होगी तो सिर भारी और दिनभर थकान महसूस होती रहेगी।  
इसलिए सुबह फ्रेश दिमाग के साथ उठने के लिए हमें बेहतर नींद चाहिए और उसके लिए शरीर में थकावट जरूरी है। तो दिनभर आराम की बजाए काम कीजिये। 

 ब्लड प्रेशर कम होने के कारण या किसी अन्य के बिमारी के कारण 

  • अगर आपका खाना पीना सही है। खाने पिने की टाइमिंग और सोते उठते भी सही समय पर है लेकिन फिर आप सुबह होने वाले सिर दर्द से परेशान रहते हैं तो एक बार अपना ब्लड प्रेशर जरूर चेक करा लीजिये। ब्लड प्रेशर low होने पर भी सुबह उठते ही थकान महसूस होना ,सिर भारी लगना और चक्कर आने जैसी समस्या होती है। 
  • इसके अलावा ये माइग्रेन बिमारी का लक्षण भी हो सकता है। 
  • यदि आप किसी और बिमारी के चलते दवाइयों का लगातार सेवन करते है तो सुबह होने वाला सिर दर्द उन दवाइयों का side effect भी हो सकता है। 

Note  -
अगर आपको इन तरीकों को अपनाने के बाद भी सुबह सिर दर्द की समस्या लगातार बनी रहती है तो ये कोई गंभीर बिमारी का संकेत भी हो सकता है जैसे माइग्रेन ,मिर्गी या पैरालिसिस  (शरीर के किसी भाग का काम करना बंद होना ) इसलिए जरूर एक बार डॉक्टर को दिखाएं। 

2 comments: