Popular post

Saturday, 23 May 2020

रात को सोते समय पैरों में दर्द क्यों होता है,feet pain at night



Rat ko sote samay pero me dard kyu hota h? , pain at night,feet pain during sleep, rat ko sote smay person me dard kyu hota h?, sote smay peron me dard hone ka karan
feet pain

feet pain at night पूरे दिन काम करने के बाद जब आप बिस्तर पर सोने जाते हो तो क्या आपको पैरों का दर्द परेशान करता है और ठीक से सोने नहीं देता ? आजकल इस समस्या से काफी लोग परेशान है। पैरों के दर्द के साथ साथ कई बार पैरों में भारीपन और मासपेशियों में खिंचाव (जिसे आम भाषा में हम नस पे नस चढ़ना भी कहते है ) महसूस होता है। पैरों को हिलाते रहने से ये दर्द थोड़ा कम महसूस होता है और सुबह होने पर ये अपने आप ठीक भी हो जाता है।यह एक प्रकार की बिमारी होती है जिसका नाम रेस्टलेस लेग्स सिंड्रोम (Restless legs syndrome(RLS)) है।
 कुछ लोगों में यह दर्द बहुत तेज होता है वो रात को ठीक से सो नहीं पाते है। जिससे उनकी नींद पूरी नहीं हो पाती और दिनभर सुस्ती और कमजोरी महसूस होती रहती है। और जो लोग डायबिटीज , अर्थराइटिस या अनिद्रा रोग से ग्रस्त है उन लोगों को रात को पैरों का दर्द ज्यादा परेशान करता है।

रात को पैरों में दर्द होने के कारण 

जब हमारे शरीर में किसी भी पोषक तत्वों की कमी होने लगती है तो किसी ना किसी विकार के रूप में नजर आने लगती है। शरीर के पास यही जरिया है अपनी जरूरतों को बताने का। रिसर्च के अनुसार अभी तक इस बिमारी के सही कारणों और ईलाज का पता नहीं चला है फिर भी अनुमान लगाया जाता है की कुछ पोषक तत्वों की कमी के कारण या आनुवंशिक बिमारी इसका कारण है। आइये जानते है वो कारण क्या है -
  • कैल्शियम की कमी 
  • आयरन की कमी 
  • विटामिन डी की कमी  
  • अनुवांशिक बिमारी  

रात को पैरों में दर्द को कम करने के उपाए 

जरूरी पोषक तत्वों की पूर्ति 

पोषक तत्वों की भरपाई के साथ साथ कुछ और विशेष बातों का ध्यान रख कर हम इस बिमारी को ठीक कर सकते है। 

कैल्शियम की पूर्ति - 

जब हमारे शरीर में कैल्शियम की कमी हो जाती है तो हमारे शरीर की हड्डियाँ कमजोर होने लगती है जिस वजह से कमर दर्द और पैरों में दर्द होना शुरू हो जाता है। जब हम खड़े रहते है तो सबसे ज्यादा जोर पैरों पर पड़ता है जिस वजह पैरों में दर्द ज्यादा रहता है। कैल्शियम की भरपाई के लिए दूध का सेवन भरपूर मात्रा में कीजिये। इसके अलाव अंकुरित आनाज ,अखरोट ,बादाम ,दही ,ब्रोकली , हरी सब्जिया ,तिल ,पनीर ,अंजीर आदि ये सभी कैल्शियम के अच्छे स्त्रोत है। इन सभी के सेवन से शरीर में कम हुई कैल्शियम की पूर्ति की जा सकती है। 

आयरन की पूर्ति -

जब शरीर में आयरन की कमी होने लगती है तो ब्लड सर्कुलेशन या रक्त प्रवाह ठीक से नहीं हो पाता जिस वजह पैरों के अलावा शरीर के कई हिस्सों में दर्द होना शुरू हो जाता है और पैरों की मासपेशियों में खिंचाव हो जाता है। आयरन की पूर्ति करने के लिए चुकन्दर ,पालक ,मशरूम खजूर ,तरबूज ,सूखे मेवे ,अनाज ,अंडा ,अमरुद ,तुलसी और अनार आदि का सेवन भरपूर मात्रा में कीजिये। 

विटामिन डी की पूर्ति  -

विटामिन डी की कमी को पूरा करने के लिए सुबह वाली धूप लीजिये। इसके अलावा खाने में दूध ,पनीर ,अंडा ,अनार का जूस ,मशरूम ,अंडे का योल्क और दही आदि को शामिल कीजिये। इन सभी से विटामिन डी की कमी को पूरा किया जा सकता है। 

अनुवांशिक बिमारी -

अनुवांशिक बिमारी भी इसका कारण माना जाता है। अगर पेरेंट्स को भी ये समस्या है तो आपको भी हो सकती है। ऐसे में आपको अपना खानपान और लाइफ स्टाइल को बेहतर बनाना होगा। 

दिनचर्या में बदलाव 

व्यायाम -

व्यायाम को अपनी दिनचर्या में शामिल कीजिये। रोजाना कम से कम बीस मिनट के लिए जरूर व्यायाम करे जिसमे आप चलना या हल्की फुलकी एक्सरसाइज शामिल कर सकते है। इससे आपके शरीर के हर हिस्से में ऑक्सीजन पर्याप्त मात्रा में पहुंच सकेगी। 

चाय ,कॉफ़ी और अल्कोहल  

चाय ,कॉफ़ी और अल्कोहल को या तो बंद कर दीजिये या तो बहुत कम कर दीजिये। इनसे शरीर में डिहाइड्रेशन बढ़ती है जिसके चलते शरीर में बीपी डाउन ,कमजोरी और विटामिनस की कमी हो जाती है। 

रात को पानी कम पीजिये 

अगर रात में पैरों के दर्द को कम करना है तो शाम के बाद पानी थोड़ा कम पीजिये। और दिनभर में भी जितना शरीर के लिए आवश्यक है उतना ही पानी पीजिये। 

मसाज 

रात में पैरों की किसी भी बढ़िया तेल से मसाज करके सोये उससे काफी आराम मिलेगा और आपको नींद भी काफी अच्छी आएगी। 




No comments:

Post a comment