Popular post

Thursday, 16 April 2020

sore throat pregnancy,sore throat remedies,early pregnancy symptoms,sore throat during pregnancy,symptoms of pregnancy,pregnancy me gale me jalan ,pregnancy me gale me dard
sore throat


pregnancy me gale me jalan - Sore throat pregnancy in hindi

(sore throat pregnancy)प्रेगनेंसी के दौरान सबको तो नहीं लेकिन ज्यादातर महिलाओं को गले से जुडी परेशानियां हो जाती है। ऐसा महसूस होता है जैसे गले में कुछ अटक गया है। कुछ भी खाने या पीने में दर्द होने लगता है और निगलने में तकलीफ होती है। गले में कुछ अटकना   या  gale me jalan hone जैसे लगना गर्भवस्था के दौरान पेट में बनने वाली गैस या एसिडिटी के कारण होता है। इसके आलावा एसिडिटी से पेट और सीने में जलन होना भी आम बात है। प्रेगनेंसी में हमे ज्यादा दवाइया नहीं लेनी होती और बिना डॉक्टर की सलाह के तो बिलकुल भी नहीं इसलिए बेहतर है की हम कुछ घरेलू उपायों से ही गले के दर्द को कम करने की कोशिश करें।

सुबह जल्दी उठना  


जैसा हम सबको पता है कि सुबह उठने के बहुत सारे फायदे होते हैं। सुबह स्वच्छ वायु वातावरण में रहती है और pollution भी सुबह नहीं होता है जिस कारण हवा में शुद्ध oxygen रहती है। इसलिए सुबह जल्दी उठकर टहलने से हमें अच्छी oxygen मिलती है जिससे हमारे शरीर के अंगों में उत्साह आता है और बहुत सारे रोगों से शरीर बचा रहता है।
इसलिए सुबह जल्दी उठने की आदत बनाये और सुबह जल्दी उठ कर खुली हवा में घूमे फिरे ऐसा करने से शरीर में ऊर्जा बनी रहेगी और शुद्ध हवा और भरपूर ऑक्सीजन से एसिडिटी के अलावा शरीर में हो रही बहुत सारी परेशानियों  में राहत मिलेगी। क्योंकि सुबह वायु में ऑक्सीजन की मात्रा ज्यादा होती है और वातावरण शुद्ध रहता है।

भरपूर पानी 

अच्छी skin और अच्छी health को बनाने में पानी बहुत उपयोगी होता है। हमारे शरीर में 70% पानी की मात्रा होती है उसी हिसाब से हमें अपनी diet में 70% liquid food रखना चाहिए और बाकी सब नॉर्मल भोजन खाना चाहिए। शरीर में पानी की कमी होने से कई तरह की problems होना शुरु हो जाती हैं और उनमें से सबसे पहले और आम प्रॉब्लम है acidity या जलन। ये जलन पेट से शुरु होती है और pregnancy के समय ज्यादा होने की वजह से ये गले तक पहुंच कर गले में जलन और सीने में जलन भी पैदा करती है।

इसलिए दिनभर में खूब पानी पिए इससे गले में जलन  और सीने में जलन में राहत मिलेगी। और सुबह में कम से कम दो गिलास गर्म पानी को चाय की तरह पीये। इसके आलावा पानी जब भी पिए तो आराम से बैठ कर घूंट घूंट कर पिए और अगर गुनगुना पानी पियेंगी तो बहुत ही अच्छा परिणाम आपको मिलेगा। और याद रखे फ्रिज का पानी बिलकुल नहीं पीना है।

इससे भी पढ़े - प्रेगनेंसी के शुरूआती लक्षण ,pregnancy ke lakshan,symptoms of pregnancy

व्यायाम या एक्सरसाइज 

रोजाना सुबह या श्याम व्यायाम या एक्सरसाइज करनी चाहिए। प्रेग्नेंट महिला के लिए चलना ,टहलना एक बढ़िया व्यायाम है। सुबह उठकर और रात को खाने के बाद जरूर करना चाहिए। और अगर एक्सरसाइज करते है तो ध्यान रखे हल्की एक्सरसाइज करे जिनमे पेट पर जोर न पड़े।(Sore throat pregnancy)

अदरक 

एक गिलास पानी में अदरक के टुकड़े को डालकर तब तक उबाले जब तक पानी आधा ना हो जाये। उसके बाद छानकर चाय की तरह पिए इससे भी गले के दर्द में काफी आराम मिलेगा। (Sore throat during pregnancy in hindi)

गरारे 

गुनगुने पानी में थोड़ा सा काला नमक मिलाकर गरारे करने से गले में आराम मिलेगा।

आगे पढ़ते रहिये sore throat relief  कैसे करे -

फ़ास्ट फ़ूड 

अगर आपको फ़ास्ट फ़ूड पसंद नहीं है तो बहुत अच्छी बात है लेकिन अगर आप फ़ास्ट फ़ूड की शौकीन है तो कम से कम प्रेगनेंसी के दौरान और डिलीवरी के छह महीने तक फ़ास्ट फ़ूड को भूलना होगा। फ़ास्ट फ़ूड से बहुत अधिक मात्रा में एसिडिटी होती है जिससे आपके गले में जलन (gale me jalan) बहुत बढ़ सकती है।

चाय और कॉफी 

चाय और कॉफी सबसे ज्यादा पिए जाने वाले पेय पदार्थ है परन्तु इन दोनों में ही कैफीन पाया जाता है जिससे एसिडिटी बढ़ती है और फिर प्रेगनेंसी में गले में दर्द बढ़ता है। इसलिए जितना हो सके उतना कम सेवन करे। इनकी जगह आप ग्रीन टी ले सकती है। (Sore throat remedies in hindi)

Second trimester of pregnancy|गर्भावस्था की दूसरी तिमाही
Third trimester of Pregnancy | प्रेगनेंसी की तीसरी तिमाही
प्रेगनेंसी के first trimester में क्या करें क्या नहीं करें ?| What should do in first trimester during pregnancy
Tips for healthy pregnancy and delivery
Husband's responsibility for pregnant wife to make happy her

1 comment: