Popular post

Friday, 17 April 2020

Leucorrhoea causes,symptoms and treatment,सफ़ेद पानी (ल्यूकोरिया)होने के कारण,लक्षण और घरेलू उपाए


Causes of leucorrhoea|सफ़ेद पानी (ल्यूकोरिया)होने के कारण-

ल्यूकोरिया महिलाओं में होने वाली आम बीमारी है। ल्यूकोरिया में महिलाओं की योनि से सफ़ेद ,हल्का पीला या हल्का नीले रंग का चिपचिपा पानी सा निकलता रहता है। महामारी (पीरियड्स ) से दो तीन दिन पहले और बाद में होना बिलकुल आम बात है। लेकिन जब ये लगातार निकलता रहता है और बदबू आने लगे तब ये आम ना रहकर एक बीमारी का रूप ले लेता है। ये दवाइयों से ठीक होगा इसके बहुत कम चांस होते है इसलिए बेहतर होगा की शुरुआत में ही ल्यूकोरिया को घरेलू इलाज से ठीक करने की कोशिश की जाये। अगर आपको ये काफी समय से है तो भी आपको घबराना नहीं है बहुत से घरेलू उपाए ऐसे भी है जो पुराना से पुराना ल्यूकोरिया जड़ से खत्म कर देंगे। पहले ल्यूकोरिया क्यों होता है ? इसके कारण जान लेते है।

  • जिन महिलाओं को मधुमेह या डायबिटीज की शिकायत है उन महिलाओं में ये ज्यादा पाया जाता है। 
  • शरीर में ज्यादा गर्मी बनने के कारण। 
  • खाने में भरपूर पोषण की कमी से ल्यूकोरिया हो सकता है। 
  • योनि मार्ग को गन्दा रखने से या सही ढंग से सफाई नहीं करने से ये समस्या हो सकती है। 
  • शरीर में खून की कमी होने से। 
  • गलत तरिके से सेक्स करने से। 
  • तली भुनी चीजे खाने से। 
  • ज्यादा मसालेदार खाना खाने से। 
  • बार बार गर्भपात होने से। 
  • योनि के मुख पर छाले होने से। 
  • ज्यादा उपवास रखने से। 
  • मुत्रस्थान में संक्रमण होने से। 
  • बैक्टीरिया या फंगस इफेक्शन होने से। 

Symptoms of leucorrhoea|सफ़ेद पानी (ल्यूकोरिया)होने के लक्षण -

कई बार महिलाओं को समझने में मुश्किल होती है की सफ़ेद पानी नार्मल निकल रहा है या फिर एक बीमारी के रूप में। इसी समस्या को सुलझाने के लिए आइये हम ल्यूकोरिया के लक्षणों को जान लेते है-
  • कमजोरी महसूस होना। 
  • कमर में दर्द होना। 
  • योनि में खुजली होना। 
  • योनि में बदबू आना। 
  • चेहरा की लालिमा खत्म हो जाना। 
  • उठने ,बैठने में चक्कर आना। 
  • शरीर में भारीपन लगना।  
  • पेडू में दर्द होना। 
  • पिंडलियों में खिंचाव होना। 
  • चिड़चिड़ापन। 
  • भूख कम लगना। 
  • बार बार पेशाब आना। 
  • पेट भरी लगना। 
  • तनाव में रहना। 

Home Remedies of leucorrhoea Treatment |सफ़ेद पानी (ल्यूकोरिया)की समस्या को ठीक करने के घरेलू उपाए  -

शीशम के पत्ते 

रोजाना खाली पेट छह से आठ शीशम के पत्तों को अच्छे से धोकर गर्मियों में मिश्री के साथ और सर्दियों में लॉन्ग के साथ खाने से कुछ दिनों में ल्यूकोरिया की समस्या खत्म हो जाती है। 

शतावरी 

रोजाना शतावरी के चूर्ण को गुनगुने दूध में मिलाकर सोने से पहले पिने से इस समस्या को जड़ से खत्म करा जा सकता है। (Leucorrhoea causes,symptoms and treatment)

श्याम तुलसी 

तुलसी कई प्रकार की होती है। उनमे से श्याम तुलसी के रोजाना सेवन से ल्यूकोरिया से निजात पाई जा सकती है।श्याम तुलसी को काढ़ा बना कर या फिर पीसकर चटनी बनाकर इसका सेवन किया जा सकता है। 

धनिया 

एक चम्मच धनिये को दो गिलास पानी में डालकर उसको तब तक उबले जब तक एक कप पानी रह जाये। पीने लायक हो जाये तब घूंट घूंट कर पिए। 15 दिन में ही ल्यूकोरिया ठीक हो जायेगा फिर भी एक महीने तक लगातार पिए ताकि दोबारा ये समस्या ना आये। धनिये में सूखा आंवला का पाउडर मिलाकर भी खा सकते है। 

सिंघाड़े 

रोजाना कच्चे सिंघाड़े खाये। हर मौसम में कच्चे सिंघाड़े नहीं मिलते इसलिए सूखे सिंघाड़े का आटा बनाकर रोजाना सुबह और दोपहर को दही में मिलाकर खाएं।  

खजूर के पत्ते 

खजूर पतों को छोटे छोटे टुकड़ों में काटकर एक कढ़ाई में भूनकर उनकी राख बना लें। खजूर की राख को सुबह और दोपहर लस्सी या दही में डालकर रोजाना खाये। 

नारियल के छिलके 

नारियल केें छिलके से राख बनाकर सुबह और दोपहर दही या लस्सी में मिलाकर रोजाना सेवन करने से इस समस्या को जड़ से खत्म किया जा सकता है। 

गोंद कतीरा 

10 ग्राम गोंद कतीरा लेकर रात को भिगोकर रख दे। सुबह उसमे दो चम्मच पीसी हुई मिश्री मिलाकर खाली पेट पिए। 15 दिन रोजाना ऐसा करने से ये समस्या बिलकुल ठीक हो जाएगी।इस प्रयोग को गर्मियों में कर सकते है सर्दियों में इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

शंखपुष्पी 

5 ग्राम हरी शंखपुष्पी को पीसकर उसमे दो चम्मच पीसी हुई मिश्री मिलाकर एक गिलास लस्सी के साथ रोजाना खाली पेट सेवन करें।15 दिन में आराम हो जायेगा। गर्मियों में ही इसका सेवन करें। 

अशोक की छाल

अशोक की छाल ,सूखा आंवला ,गोखुरू कांटा और शतावर की जड़ इन सभी को 100 -100 ग्राम लेकर इनका चूर्ण बना लीजिये। एक गिलास लस्सी में मिश्री मिलाकर रोजाना खाली पेट 15 दिन सेवन करने से 100 % ठीक हो जायेगा।

मूंग दाल

पेट में बनी गर्मी के कारण सफ़ेद पानी की समस्या हो सकती है। मूंग दाल की ठंडी प्रकृति की होती है। मूंग दाल खाने से पेट की गर्मी को कम किया सकता है जिससे सफ़ेद पानी यानि ल्यूकोरिया को ठीक किया जा सकता है। मूंग दाल को साफ़ करके उसका आटा बना लीजिये। उसको अच्छे से भून ले फिर खांड और देसी घी स्वादानुसार मिला ले। इसको बना के रख लीजिये और सुबह खली पेट इसका सेवन करने से सफ़ेद पानी की समस्या कुछ ही दिनों में दूर हो जाएगी। 

उपायों के साथ रखें इन बातों का भी ध्यान 

ऊपर दिए हुए सभी उपाए कारगर है अगर आप इनमे से कोई एक या दो उपाए सही तरिके से करती है तो आपकी ल्यूकोरिया की समस्या बिलकुल ठीक हो जाएगी परन्तु इन उपायों को करने के साथ साथ आपको कुछ खास बातों का ध्यान रखना होगा -

  • योनि मार्ग को हमेशा साफ़ सुथरा रखे। 
  • भरपूर मात्रा में पानी पिए। पानी हमेशा बैठ कर पीना चाहिए। 
  • योनि मार्ग को सूखा रखे। 
  • दिन में दो बार undergarments बदलें। 
  • सूती undergarments का प्रयोग करें। 
  • सात्विक खाना खाएं। 
  • एलोवेरा जूस पिए। 
  • दही और लस्सी का ज्यादा सेवन करें। 
  • सुबह जूस, दिन में दही और रात में दूध का सेवन करें। 
  • तला हुआ खाना ना खाये 
  • मिर्च मसाले कम से कम खाये। (Leucorrhoea causes,symptoms and treatment)

नोट -ऊपर दिए हुए घरेलू उपायों के प्रयोग से अगर आपको कोई side effect जैसे रक्त संचार कम होना ,हैजा ,पेट में गर्मी महसूस हो रहा है तो उसका प्रयोग बंद कर दे। 

No comments:

Post a comment